लेबर कांट्रेक्टर कैसे बने ? लेबर सप्लाई करने का काम कैसे शुरू करें

बहुत सारे फैक्टरियों, सरकारी और प्राइवेट निर्माण कार्यों में सैकडों/हजारों की संख्या में लेबर की आवश्यकता होती है और इतनी ज्यादा संख्या में लेबर की व्यवस्था कर पाना किसी कंपनी या फैक्टरी मालिक के अकेले की बस की बात नहीं होती है अतः इसके लिए वे लेबर कांट्रेक्टर से संपर्क करते हैं जो उन्हें जरूरत के हिसाब से लेबर उपलब्ध करा सकें

यदि आप भी लेबर कांट्रेक्टर का काम शुरू करना चाहते हैं और यह जानना चाहते हैं कि लेबर कांट्रेक्टर कैसे बने ? लेबर सप्लाई करने का काम कैसे शुरू करें ? लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस कैसे बनाये ? लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस की जरूरत क्यो और कब होती है ? इसके लिए क्या क्या डॉक्युमेंट्स चाहिए होते हैं ? तो यह पूरी पोस्ट ध्यान से पढ़ें

चलिये अब सीधे टॉपिक पर आते हैं जानते हैं लेबर कांट्रेक्टर क्या होता है और लेबर कांट्रेक्टर कैसे बने ?

लेबर कांट्रेक्टर क्या होता है ?

फैक्ट्री मालिक और बड़े ठेकेदारों के लिए एक एक करके श्रमिक खोजना संभव नहीं होता है क्योंकि उन्हें और भी बहुत सारे काम देखने होते हैं अतः इसके लिए वे सीधे ही किसी ऐसे व्यक्ति से संपर्क कर लेते हैं जो उनकी जरूरत के हिसाब से लेबर उपलब्ध करा सकें बस इसी व्यक्ति को जो लेबर उपलब्ध कराने का काम करता है लेबर कांट्रेक्टर कहा जाता है और फिर कंपनी और लेबर कांट्रेक्टर के बीच प्रति मजदूर के हिसाब से मेहनताना तय कर लिया जाता है जिसे कंपनी की तरफ से लेबर कांट्रेक्टर को दे दिया जाता है जिसे वह लेबर में वितरित करता है

लेबर कांट्रेक्टर कैसे बने ? लेबर सप्लाई करने का काम कैसे शुरू करें

लेबर कांट्रेक्टर कैसे बने

20 से कम संख्या में श्रमिकों का कांट्रेक्ट लेने का काम बिना लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस के शुरू कर सकते हैं लेकिन यदि आप 20 या 20 इससे ज्यादा संख्या में श्रमिकों का कॉन्ट्रैक्ट लेते हैं तो आपको Labour contractor licence लेने की आवश्यकता होती है और साथ ही और भी बहुत सी बातों का ध्यान रखना पड़ता है

तो चलिए अब सीधे टॉपिक पर आते हैं और वे सारी बाते विस्तार से जानते हैं जो एक कांट्रेक्टर के लिए आवश्यक होती है और उसकी जिम्मेदारी भी होती है जिससे आप भी एक सफल लेबर कांट्रेक्टर बन सकें

लेबर कांट्रेक्टर के काम और जिम्मेदारी को ठीक से समझें

लेबर कांट्रेक्टर का काम शुरू करने के लिए बहुत जरुरी होता है कि पहले आप एज अ लेबर कांट्रेक्टर काम और जिम्मेदारी ठीक से समझ लें इसके लिए आप कुछ समय किसी लेबर कांट्रेक्टर के पास हेल्पर के रूप में काम कर सकते हैं जिससे आपको यह मोटा – मोटा आईडिया हो जाता है कि एक लेबर कांट्रेक्टर को क्या – क्या समस्याएं आती है और उन्हें कैसे सुलझाया जाता है

लेबर कांट्रेक्टर का क्या काम होता है ?

एक लेबर कांट्रेक्टर का क्या काम होता है और क्या सेवाएं दे सकता है इस प्रकार हैं

  • जरूरत के हिसाब से उचित संख्या में लेबर उपलब्ध कराना
  • लेबर कार्य में आवश्यक उपकरण उपलब्ध कराना
  • लेबर कार्य से संबंधित उचित परामर्श
  • श्रम सुरक्षा और
  • सुपरवाइजर सपोर्ट

लेबर कांट्रेक्टर की क्या जिम्मेदारी होती है (Duties of labour contractor)

Contract Labour (Regulation & Abolition) Act, 1970 के अनुसार एक लेबर कांट्रेक्टर की जिम्मेदारी इस प्रकार हैं

  1. लेबर कांट्रेक्टर प्रत्येक श्रमिक को मजदूरी के भुगतान के लिए जिम्मेदार होता है जो कि एक निर्धारित समयावधि पूर्ण होने से पहले देनी होती है
  2. श्रमिक के किसी कंपनी आदि के जिस विभाग में काम करते हैं, उसका प्रमुख नियोक्ता एक प्रतिनिधि को नियुक्त करता है जिसकी यह जिम्मेदारी होती है श्रमिकों के मेहनताना भुगतान के समय वह उपस्थित रहे और यह सुनिश्चित करें तय की गई निर्धारित धनराशि श्रमिक को प्राप्त हो गयी है
  3. लेबर कांट्रेक्टर की यह जिम्मेदारी होती है कि वह मुख्य नियोक्ता द्वारा नियुक्त किये गए प्रतिनिधि की उपस्थिति में श्रमिकों को पेमेंट का भुगतान करें
  4. जब किसी कारणवश एक निश्चित समय कॉन्ट्रेक्टर लेबर को पेमेंट का भुगतान नहीं कर पाता है या कम भुगतान करता है तो मुख्य नियोक्ता की यह जिम्मेदारी होती है वह श्रमिकों को पेमेंट का भुगतान करें और इसकी भरपाई फिर वह बाद में कांट्रेक्टर के खाते से कर लेता है

सीधे शब्दों में कह सकते हैं कि श्रमिकों को एक निश्चित समय पर पेमेंट का भुगतान करना लेबर कांट्रेक्टर की जिम्मेदारी होती है

कुछ समय कांट्रेक्टर के संरक्षण में श्रमिक और हेल्पर के रूप में काम करें

बहुत अच्छा होगा यदि आप कांट्रेक्टर का काम शुरू करने से पहले कुछ समय कांट्रेक्टर के पास एक हेल्पर और श्रमिक के रूप में काम करें क्योंकि किसी भी बड़े बिजनेस में सफलता पाने के लिए उसकी नींव मजबूत होना बहुत आवश्यक होता है और ये तभी हो सकता है जब आप एक लेबर या हेल्पर के रूप में कुछ दिन काम करें क्योंकि इससे आपको लेबर कांट्रेक्टर बिजनेस से संबंधित सारी बातें गहराई से समझने को मिलेंगी जैसे श्रमिक के रूप में काम करना कितना मुश्किल होता है श्रमिक अपने मालिक से क्या उम्मीद रखते हैं उनके लिए किन बातों का ध्यान रखा जाए ताकि वे खुश रह सकें और ज्यादा आउटपुट प्रदान कर सकें प्रति श्रमिक के हिसाब से कांट्रेक्टर को कितना पेमेंट मिलता है और वास्तव में वह श्रमिक को कितना पेमेंट देता है

छोटे कांट्रेक्टर के रूप में काम कर अनुभव हाशिल करें

जब आप किसी कांट्रेक्टर के पास कुछ समय रहकर काम सीख लेते हैं तो फिर समय आता है कि आप अपने दम पर कॉन्ट्रैक्ट लेने का शुरू करें और यदि आप बीस से कम संख्या में श्रमिकों की डील करते हैं तो इसके लिए लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती है अतः जब तक आपका लाइसेंस नहीं बनता है तब तक आप एक छोटे कॉन्ट्रैक्टर के रूप में काम शुरू कर सकते हैं और अनुभव हाशिल कर सकते हैं

लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस बनवाये

जब आपके पास श्रमिकों की संख्या काफी ज्यादा हो जाती है और कांट्रेक्टर के काम में निपुण हो जाते हैं तो लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस के लिए अप्लाई करें

जैसा कि हमने पहले भी बताया है कि यदि आप 20 से कम संख्या में श्रमिकों की डील करते हैं तो आपको लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती है लेकिन यदि आप अपने बिजनेस का विस्तार करना चाहते हैं और ज्यादा संख्या में श्रमिकों की डील करना चाहते हैं तो आपको लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस बनवाना जरूरी होता है

लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस बनाने के लिए सरकार की तरफ से श्रम सुविधा पोर्टल की व्यवस्था की गयी है जिसकी आधिकारिक वेबसाइट shramsuvidha.gov.in पर लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं

ये भी पढ़े

प्याज का बिजनेस कैसे करें ? 4 महीनों में 300% कमाई

बस का बिजनेस कैसे करें ? साल में 10 से 12 लाख की कमाई

2021 में ऑनलाइन पैसे कैसे कमाये ? 30 तरीकें

लेबर कांट्रेक्टर लाइसेंस के लिये आवश्यक दस्तावेज (Required documents for online apply a labour contractor licence)

श्रम पंजीकरण लाइसेंस के लिए एक लेबर कांट्रेक्टर को निम्न डॉक्युमेंट्स की आवश्यकता होती है

  • कांट्रेक्टर का आधार कार्ड
  • कांट्रेक्टर का पैन कार्ड
  • मोबाइल नम्बर और ईमेल एड्रेस
  • प्रमुख नियोक्ता का पहचान पत्र
  • प्रमुख नियोक्ता के बिजनेस का पंजीकरण प्रमाण पत्र
  • कार्य आदेश
  • कार्य का नाम और प्रकृति
  • लाइसेंस फीस (चालान के रूप में)

श्रम सुविधा पोर्टल पर लाइसेंस अप्लाई करते समय आपको एक Log in ID और Password दिए जाते हैं जिसकी सहायता से आवेदन में कुछ गलती होने पर आप करेक्शन कर सकते हैं और फिर लाइसेंस अप्लाई करने के बाद आधिकारिक रूप से आपके आवेदन की जांच की जाती है और सब कुछ सही पाए जाने पर आपको लेबर कॉन्ट्रैक्टर का लाइसेंस इशू कर दिया जाता है

कंपनी आदि से संपर्क कर लेबर के लिए काम ढूंढे और कमाई शुरू करें

जब आप लेबर कांट्रेक्टर का काम ठीक से समझ लेते हैं और लाइसेंस आदि बनाकर सारी कानूनी आवश्यकताएँ भी पूरी कर लेते हैं तो अब समय आ गया है कि अपने बिजनेस का विस्तार करें और किसी व्यक्ति, कंपनियों और संस्था आदि से संपर्क कर कांट्रेक्ट प्राप्त करें और लेबर कांट्रेक्टर के रूप में कमाई शुरू करें

आशा करते हैं अब आपको लेबर कांट्रेक्टर क्या होता है ? लेबर कांट्रेक्टर क्या सेवाएं दे सकता है ? क्या जिम्मेदारी होती है ? लेबर कांट्रेक्टर कैसे बने और लेबर सप्लाई करने का काम कैसे शुरू करें ? अच्छे से समझ आ गया होगा यदि अभी भी आपके मन में कुछ सवाल हैं तो बेझिझक कमेंट में पूछ सकते हैं

यदि आपको हमारी पोस्ट लेबर कांट्रेक्टर कैसे बने ? लेबर सप्लाई करने का काम कैसे शुरू करें अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें

10 thoughts on “लेबर कांट्रेक्टर कैसे बने ? लेबर सप्लाई करने का काम कैसे शुरू करें”

  1. But how to get principal employer Certi without getting license. Every body wants license before giving work order. So please clear

    Reply
  2. संपत लाल राजस्थान गांव थाना जिला भीलवाड़ा तहसील करेड़ा राजस्थान कारपेंटर दरवाजा प्लस डोर दरवाजा खिड़की

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!